मुख्यमंत्री ने टिक्करताल में विभिन्न साहसिक खेलों का ट्रायल किया और इन खेलों का निरीक्षण भी किया

  • मुख्यमंत्री ने स्वयं जेट स्कूटर, मोटर ग्लाइडिंग और हॉट एयर बैलून की सवारी की, बताया कि ये साहसिक खेल सुरक्षित

डीएन सिंह चंडीगढ़

हरियाणा में रोमांचक पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए मोरनी हिल्स के पास टिक्करताल क्षेत्र में आज विभिन्न एडवेंचर गतिविधियों में मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने निरीक्षण व ट्रायल करने के बाद स्वयं भाग लेकर लोगों का उत्साहवर्धन करने का काम किया। उन्होंने कहा कि टिककरताल में आयोजित होने वाली ये साहसिक गतिविधियां आसान एवं सुरक्षित हैं।
टिककरताल में रोमांचक गतिविधियों के तहत पैराग्लाइडिंग, वाटर स्पोट्र्स एक्टिविटी, रोलर जॉर्बिंग, ई- हैड्रोफोइएल, जेट स्कूटर, पैरा सेल्लिंग औऱ ट्रेकिंग जैसे एडवेंचर खेलों के आयोजन को जल्द ही शुरू किया जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आज विभिन्न उद्धघाटन व शिलान्यास करने के बाद सबसे पहले टिककरताल में वाटर मोटर स्कूटर (जिसे जेट स्कूटर भी कहा जाता है) का सवारी कर अनुभव लिया। जेट स्कूटर की सवारी के दौरान ही उन्होंने चालक से कुछ टिप्स हासिल किये और फिर स्वयं जेट स्कूटर चलाया और इन खेलों के सुरक्षित होने का संदेश दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि ये खेल व्यक्ति को अपनी और आकर्षित करते हैं यही कारण है कि मैं स्वयं को रोक नही पाया । मुख्यमंत्री ने बताया कि उन्होंने जेट स्कूटर को अपने जीवन मे पहली बार चलाया है।
इसके बाद, मुख्यमंत्री ने मोटर ग्लाइडिंग का निरीक्षण किया और स्वयं इसकी राइड ली । इस मौके पर हरियाणा के विधानसभा के अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता, पर्यटन मंत्री कंवर पाल गुर्जर, खेल एवं युवा मामले मंत्री संदीप सिंह ने भी मोटर ग्लाइडिंग का आनन्द लिया। दरअसल यह खेल अपने आप में एक जबरदस्त साहसिक गतिविधि है, जिसको देखते ही लोगों के चेहरे खिल उठते हैं।


इसके उपरांत जब मुख्यमंत्री ने हॉट-एयर बैलून में उड़ान भरी तो उपस्थित ग्रामीणों ने हाथ हिला हिला कर मुख्यमंत्री का अभिवादन किया।जिसको मुख्यमंत्री ने हाथ हिलाकर स्वीकार किया। मुख्यमंत्री की उपस्थिति में इस दौरान साहसिक खेलों के क्रम में बोट रोइंग के खेल का भी रोमांचक प्रदर्शन किया गया और उन्होंने रोइंग करने वाले नाविकों से भी बातचीत की। बोट रोइंग का खेल केरल में सबसे ज्यादा खेला जाता है और अब यह खेल टिककरताल में भी आने वाले आगंतुकों को देखने व खेलने को मिलेगा। इस खेल में नाविकों के हौसला-अफजाई व जोश भरने के लिए ड्रम बजाया जाता है ताकि वे ताल मिला कर तेज़ी से अपनी नाव को चलाये।

हरियाणा की शिवालिक की पहाडिय़ों के बीच बसे पंचकूला को पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने और हब बनाने के लिए हरियाणा सरकार कटिबद्ध है । अब चंडीगढ़, पंचकूला व मोहाली के साथ – साथ दिल्ली के एनसीआर के लगते भीड़ भाड़ वाले शहरों के लोगों को वीकेंड पर मोरनी हिल्स और टिककरताल में बेहतरीन नजारे मिलेगें जहां लोगों की हफ्ते भर की थकान से निजात पा सकेंगे। आज इन एडवेंचर खेलों की शुरुआत के लिए निरीक्षण और ट्रायल हो चुका है और अब जल्द ही इन्हें चालू करने का काम भी होगा। इसी दिशा में आज मुख्यमंत्री ने मोरनी हिल्स के थापली में पंचकर्मा वेलनेस सेंटर का उद्घाटन भी किया। इस सेंटर के शुरू होने से लोग यहां आकर स्वास्थ्य लाभ ले सकेंगे । इस सेंटर में 12 हट्स भी बनाई जाएंगी।

आज ही मुख्यमंत्री ने मोरनी के थापली क्षेत्र में नक्षत्र वाटिका, राशि वन, सुगंध वाटिका की आधारशिला रखी और नेचर ट्रैक का उद्घाटन भी किया। इसके बाद मुख्यमंत्री ने थापली नेचर कैंप से थापली गांव तक छोटे से ट्रैक के लिए बच्चों के एक समूह को झंडी दिखाकर रवाना भी किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *